Entertainment

Make your sweet home Christmas ready 🎄

Christmas is round the corner, followed by New year and vacations, jazzing up dull winter nights across the world. Again, this is the that time of the year. It's high time to raise a toast and rejoice the season of bliss and merrymaking. Unlike every year it is different indeed. From Carol's in the background and fairy lights across the home to bright red décor pieces and well- manicured, beautified Christmas trees emanating a cherry festive spirit. Be it fine food, exquisite ambiance or some foot tapping live music!! Every aspect of the celebration has the essence of Chris

Entertainment

10 fun things to do in winter season!!

Winters are here and our love for it is perpetual. Though the season lasts only for few months through the year, it spills out it's own fascination and one can enjoy the season by doing various fun things! No matter, how shivering are the early mornings and lazy we feel to get out of the comfort of the blankets, saadi "dilli ki sardi" is charismatic with no comparable. Whether you prefer to stay cozy indoors or venture out into a winter wonderland, there are plenty of fun things to do in winter, no matter your mood! Winter bucket Some fun things one can try: 1. H

Entertainment

देवउठनी ग्यारस (11) – तुलसी विवाह

हिंदू धर्म में सबसे शुभ और पुण्यदायी मानी जाने वाली एकादशी, कार्तिक माह के शुक्ल पक्ष को मनाई जाती है। देवउठनी एकादशी दिवाली के बाद आती है। इस एकादशी पर भगवान विष्णु निद्रा के बाद उठते हैं इसलिए इसे देवोत्थान एकादशी कहा जाता है। मान्यता है कि भगवान विष्णु चार महीने के लिए क्षीर सागर में निद्रा करने के कारण चातुर्मास में विवाह और मांगलिक कार्य थम जाते हैं। फिर देवोत्थान एकादशी पर भगवान के जागने के बाद शादी- विवाह जैसे सभी मांगलिक कार्य आरम्भ हो जाते हैं। इसके अलावा इस दिन भगवान शालिग्राम और तुलसी विवाह का धार्मिक अनुष्ठान भी किया जाता है।  तुलसी की महिमा - देवउठनी ग्यारस

Entertainment

आहोई अष्टमी

कथा - आहोई प्राचीन काल में किसी नगर में एक साहूकार रहता था। उसके सात पुत्र थे। दीवाली से पहले साहूकार की स्त्री घर की लीपा पोती के लिए मिट्टी लेने के लिए खदान में गई और खदान में कुदाल से जब मिट्टी खोदने लगी तो देव्योग से उसी जगह एक सेह कि मांड थी। सहसा उसी स्त्री के हाथ से कुदाल सेह के बच्चे को लग गई, जिससे सेह का बच्चा उसी षण मर गया। इस गतना से उस स्त्री को बहुत दुख हुआ। परन्तु अब क्या हो सकता था, वह स्त्री पश्चाताप करती हुई घर आ गई। कुछ दिन बाद उस स्त्री का एक एक पुत्र मर गया। फिर दूसरा और तीसरा अर्थात् सातों पुत्र मर गए। इस पर वह स्त्री रात दिन अत्यंत दुखी रहने ल

Entertainment

Karwachauth

Karwachauth लाल रंग का जोड़ा पहने दुल्हन सी सजी है गहरे प्यार की रंग लाई मेहंदी यूं रची है।   मेहंदी की खुशबू हो या हो सरगी का प्यार हर रूप में खिल उठे जो करे वो सोलह श्रृंगार।   चूड़ियों की खनक है और पायल की झंकार है मांग भरे सिंदूर से  आज फिर उनका दीदार है।   करवा की थाली में जलता दिया विश्वास का लंबी उम्र की दुआ मांगे यह रिश्ता है एहसास का।   ऐ चांद! तू भी सुन ज़रा हर सुहागन की पुकार है व्रत किया जलपान का आज तेरा इंतज़ार है।    - श्वेता गुप्ता   Also Read

Entertainment

Holiday post lockdown – A checklist of 15 points

  Since the outbreak of COVID-19, tourism has been shutdown from March onward boarding all the plans on hold or cancelled. No holiday, no vacations has been enjoyed this year. Unlock 5 guidelines has open the tourism industry and many has planned to move out to break the monotony, though following the safety protocols of new normal. Ahaa! Atlast we can be out but hey, hold on! Keep few things on check and have a healthy and safe vacation! So, the recent long weekend was the best time in 2020, so far, to plan so. Though, not expecting the huge crowd due to pandemic, one o

Entertainment

शरद पूर्णिमा

कार्तिक महिने की पूर्णिमा को शरद पूर्णिमा होती है। इस दिन संजात खीर बनाते है। भगवान की पूजा करके खीर और बानच को भोग लगाते है। खीर का प्रसाद खाते है। चांद की रोशनी में सुई पिरोते है। खीर और बानच को रात भर छत पर रखते है। दूसरे दिन सवेरे भी खीर खाते है। शरद पूर्णिमा का दिन हिंदू धर्म में बहुत महत्व रखता है। ऐसा माना जाता है कि शरद पूर्णिमा की रात देवी लक्ष्मी धरती पर भ्रमण करने निकलती हैं और अपने भक्तों को आशीर्वाद प्रदान करती हैं। शरद पूर्णिमा का शुभ अवसर देवी लक्ष्मी को समर्पित है। ऐसा माना जाता है कि यदि आप इस दिन देवी लक्ष्मी की पूजा करते हैं, तो आप उनका आशीर्वाद प्राप्

Entertainment

नवरात्रि

नवरात्रि यानी कि नौ रातेें। हिन्दू धर्म का अत्यंत महत्वपूर्ण मनाया जाने वाला त्योहार जो साल में दो बार आता है और पूरे नौ दिनों तक मनाया जाता है। शक्ति की प्रतीक मां दुर्गा की उपासना का पर्व है नवरात्रि। नौ दिनों तक मनाये जाने वाले इस पर्व में प्रत्येक दिन मां दुर्गा के विभिन्न नौ रूपों की पूजा की जाती है। माता के यह नौ रूप हैं− श्री शैलपुत्री, श्री ब्रह्मचारिणी, श्री चंद्रघंटा, श्री कूष्मांडा, श्री स्कंदमाता, श्री कात्यायनी, श्री कालरात्रि, श्री महागौरी और श्री सिद्धिदात्री। भारतीय संस्‍कृति में देवी को ऊर्जा का स्रोत माना गया है। अपने अंदर की ऊर्जा को जागृत करना ही दे

Entertainment

यादें

यादें ज़िन्दगी का सफर होता है  यादों की किताब  जो बनता नहीं यूहीं  बिना अपनों के मिले जनाब।   दिल की दीवारों पे अक्सर  लिखते है हम गुजरी हुई यादें भुलाए हुए गम   मजबूत से बने अब छुपाते है अपनी खाहिशें कहां खो गए वो दिन हम भी किया करते थे फरमाइशें   हंसाती है रुलाती है यह यादें हमें बनती है बिन बोले बिन अल्फाजो के कई बातें बयान कर जाती है।   हर दिन नया  हर तारीख़ पुरानी हर पुरानी कहानी  की एक निशानी   आज यह पल हैं कल बस यादें होंगी जब ये पल ना होंगे तब सिर्फ़ बातें होंगी   जो पलटोगे ज़िन्दगी के पन्नों को तुम कुछ पे गम के आंसू और कुछ पे मुस्कुराहटें होंगी।   जो यादें ना ह

Entertainment

*दोस्ती – एक रिश्ता*

"उस रात की अगली सुबह को एहसास हुआ की दोस्तों के साथ बिताए हुए पल सदा के लिए मीठी सी यादें बनकर रह गए। ऐसा लग रहा था मानो ठहाको से भरी वो रात, जो बहुत सी यादें दे गई, आज वही थम जाए। ज़िन्दगी की दौड़ में गुम हुए वो हसीन पल मानो फिर से जी लिए हो। बचपन की अमीरी के वो दिन, जहां बारिश के पानी में दोस्तों के जहाज़ चला करते थे, या जवानी की रवानी, जहां तीन की सीट पर चार लोग सवार बेफिक्र बादशाह बने घूमते थे - लौट आए थे।" हां, उस शाम दोस्ती के मायनों का दायरा समझ आया। दोस्ती वो हसीन रिश्ता है जो अपनों की कमी महसूस नहीं होने देती। जहां हक भी होता है और नाराजगी भी। जहां शिकवे भी होते